Home

वैदिक ज्ञान-विज्ञान संस्थान में आपका स्वागत है!
  • यह एक वैचारिक, सांस्कृतिक, सामजिक और राष्ट्रिय चेतना को समर्पित पवित्र आंदोलन है|
  • यह धर्म के स्वरुप, क्रिया कलापो आदि का वास्तविक और वैज्ञानिक रहस्य बताने वाला संगठन है |
  • यह वेद, वैदिक सिद्धांतों और वैदिक ज्ञान-विज्ञान का प्रचारक व प्रसारक संस्थान है|
  • अपराध, अत्याचार, भ्रष्टाचार, हिंसा, अन्यान, आतंकवाद सामाजिक बुराइयों राष्ट्र व मानवता विरोधी ताकतों के विरुद्ध जन-चेतना जाग्रत करने के लिए समर्पित संस्थान है|
  • इसकी स्थापना वैदिक सिद्धांतों से ओत-प्रोत, वैदिक मनीषी पं विश्वेन्द्रार्य के सद प्रयासों के परिणाम स्वरुप ३१ मार्च २०१४ दिन सोमवार चैत्र शुक्ल प्रति-पर्दा विक्रम संवत २०७१ को आगरा नागरान्तर्गत कमला नगर क्षेत्र में हुयी|

और पढ़ें…

हमारा उद्देश्य:
  • स्वस्थ, समर्थ एवं शक्तिशाली राष्ट्र निर्माण के लिए विधेयात्मक, सृजनात्मक जीवन निर्माण के लिए, चरित्रवान, संस्कारवान, उत्तम संतानों के निर्माण के लिए सरल, सुबोध, ज्ञान वर्धक श्रेष्ठ साहित्य का प्रकाशन करना|
  • पत्राचार कक्षाओं, चर्चाओं, सेमिनारों, शिविरों, व्याख्यान-मालाओं, कथा, प्रवचनों, पारिवारिक सत्संगों, परीक्षाओं आदि साधनों के द्वारा प्राचीन वैदिक धर्म, दर्शन, शिक्षा, साहित्य, सिद्धांत, सभ्यता, ज्ञान, विज्ञान, चिकित्सा आदि के सर्वत्र प्रचार-प्रसार के द्वारा सभी सामजिक समस्याओं, विसंगतियों, कुरीतियों, अंधविश्वासों, पाखंडों को समाप्त कर के परिवार, समाज, राष्ट्र, और सम्पूर्ण विश्व में सर्वत्र सुख, शान्ति, प्रेम और निर्भीकता की स्थापना करना |
  • ईश्वरीय, उत्कष्ट, शाश्वत, सर्वोपरि, सर्वश्रेष्ठ, सर्वप्राचीन, गौरवमयी, सार्वभौमिक, वैदिक, सिद्धांतों एवं प्राच्य ऋषियों की परंपरा से प्राप्त ज्ञान विज्ञान को आधुनिक विज्ञान सम्मत प्रतिष्ठापित करना|
  • वेद एवं आर्ष ऋषियों के प्राचीन प्रयोगों, विचारों, दिशा निर्देशों, वैज्ञानिक दृष्टिकोणों से सदाचारी, संयमी, संस्कारी, चरित्रवान, ऊर्जावान, सुखमय एवं शांतिमय विश्व का निर्माण करना |
Our Trusties: